खेल मंत्री बोले- IPL पर फैसला इस तारीख के बाद, सिर्फ खेल नहीं, लोगों की सुरक्षा का सवाल

खेल मंत्री बोले- IPL पर फैसला इस तारीख के बाद, सिर्फ खेल नहीं, लोगों की सुरक्षा का सवाल
IPl NEWS

कोरोना वायरस के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सत्र के आयोजन का लेकर संशय बरकरार है। अब इस पर खेल मंत्रालय की ओर से बयान आया है। खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने कहा है कि आईपीएल 2020 के आयोजन पर फैसला 15 अप्रैल के बाद ही लिया जाएगा। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने कोरोना वायरस के खतरे को देखते को हुए इस लीग को 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया है। पहले इसका आगाज 29 मार्च से होना था।

मंत्रालय की ओर से बताया गया कि खतरनाक कोरोना वायरस के कारण मौजूदा स्थिति को देखने के बाद ही 15 अप्रैल के बाद नई एडवाइजरी जारी की जाएगी। रिजिजू ने कहा कि क्रिकेट के मसलों पर फैसला बीसीसीआई को लेना होता है। इस बीमारी का असर सीधे तौर पर देश के नागिरकों पर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि 15 अप्रैल के बाद सरकार स्थिति के हिसाब से नई एडवाइजरी जारी करेगी। बीसीसीआई क्रिकेट के ममलों को देखती है और यह ओलंपिक स्पोर्ट नहीं है।

रिजिजू ने साथ ही कहा, कि यह सिर्फ एक खेल टूर्नामेंट का सवाल नहीं बल्कि नागरिकों की सुरक्षा का सवाल है। एक टूर्नामेंट में हजारों लोग आते हैं। इसलिए यह सिर्फ खेल संघ और खिलाड़ियों की बात नहीं, यह हर नागरिक की सुरक्षा की बात है।

आईपीएल के आयोजन को लेकर बीसीसीआई ने अभी तक अपने प्लान बी का जिक्र नहीं किया है। वो अब भी आईपीएल के सभी 60 मैचों को आयोजित करने की योजना पर ही काम कर रही है। पिछले दिनों इस लीग की सभी टीम मालिकों और बोर्ड अधिकारियों की बैठक हुई थी, लेकिन सभी ने कहा था लोगों की सुरक्षा पहले है।

खेल मंत्रालय ने 12 मार्च को सूचना जारी करते हुए कहा था कि कोरोना वायरस के कारण सभी घरेलू टूर्नमेंट रद्द किए जाते हैं और अगर टूर्नामेंट का आयोजन जरूरी हो तो इसे बिना दर्शकों के कराया जाए। दिल्ली सरकार केंद्र सरकार से एक कदम आगे रही थी। उसने दिल्ली में 31 मार्च तक आईपीएल कराने पर ही पाबंदी लगा दी है।