राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने ठुकराई निर्भया के दोषी की फांसी टालने की अर्जी

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने ठुकराई निर्भया के दोषी की फांसी टालने की अर्जी
Nirbhaya accused

निर्भया मामले के दोषी मुकेश कुमार की मां ने मंगलवार को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) से उसकी फांसी की सजा पर रोक लगाने की गुहार लगाई। हालांकि अयोग ने इस मांग को यह कहते हुए नामंजूर कर दिया कि यह उसके अधिकार क्षेत्र से बाहर है

इससे पहले दोषी मुकेश के वकील एपी सिंह ने एनएचआरसी से अपील की। उसके बाद पत्रकारों से कहा, हमने 20 मार्च की फांसी पर रोक लगाने की मांग की है, क्योंकि यह न्याय की हत्या है। उन्होंने कहा कि इस अपील का आधार राम सिंह और उसकी 70 साल की मां व 10 साल का बेटा है। 

तिहाड़ जेल में कथित खुदकुशी की जांच पक्षपातपूर्ण थी। उन्होंने कहा कि उसको लिंच कर मारा गया और उसमें जेल अधिकारी भी शामिल थे। राम सिंह का भाई मुकेश सिंह उस घटना का एकमात्र चश्मदीद है, इसलिए इस मामले में जल्दबाजी में फांसी नहीं होनी चाहिए।